breaking news

बिहार सरकार के सरकारी विद्यालय में चपरासी- शिक्षकों और शिक्षिकाओं को देता है भद्दी- भद्दी गालियां

गालियां सुनकर विद्यालय की बच्चियां हो जाती है शर्मसार- यह घटना औरंगाबाद जिला के रफीगंज प्रखंड के भादवा हाई स्कूल का घटना है। आपको बता देना चाहते हैं कि भदवा विद्यालय औरंगाबाद में शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। भादवा विद्यालय में करीब शिक्षकों की संख्या 22 है और उनमें से महिला शिक्षिकाओं की संख्या तीन से चार है। यह घटना शिक्षा जगत में और विद्यालय के नाम पर शर्मसार कर देती है भदवा शिक्षा एक ऐसा क्षेत्र है जहां लोग निस्वार्थ भावना से दुनिया की सारी रंगीन नौकरियों को छोड़कर शिक्षा का क्षेत्र लोग इसलिए चुनते हैं जहां हम अपने मान सम्मान की रक्षा करते हुए बच्चों को शिक्षा का दान दे सकें और सम्मान को बचाते हुए अपना परिवार का भरण पोषण कर सकें। लेकिन आज भदवा विद्यालय में एक शिक्षक को अपनी नौकरी करने में जिल्लत महसूस हो रहा है उस जिल्लत की वजह सिर्फ और सिर्फ वहां काम करने वाले एक शराबी चपरासी है जिसका नाम अश्लोक है और आपको बता दें चपरासी का गांव उसी विद्यालय के बगल में है और चपरासी कि यह हैसियत कि हमारे आदर्श रूपी शिक्षक को भद्दी- भद्दी गालियां एवं जान से मारने की धमकी तक दे डालता है। शिक्षक हमारे समाज के दर्पण है और दीपक है जो हमें अंधकार से प्रकाश की ओर हमारे जीवन को ले जाने में मदद करते हैं हमारे जीवन में अंधकार को दूर करके उस सुखी जीवन को प्रकाश से भरने का काम करते हैं बदले में हम शिक्षक को कुछ नहीं देते हैं हमारी देश की परंपरा है गुरु परंपरा कहा जाता है गुरु गोविंद दोऊ खड़े काके लागू पाय बलिहारी गुरु आपने जिन गोविंद दियो बताए यानी कि गुरु और गोविंद दोनों खड़े हैं किसको पैर लगूं बलिहारी गुरु आपने हे गुरुदेव आप महान हो जो आपने मुझे भगवान को और भगवान के अस्तित्व को बताया है इसलिए इस देश की परंपरा है कि पहले हम अपने गुरु का पैर छूकर प्रणाम करते हैं। लेकिन आज भादवा में पढ़ रहे बच्चे और बच्चियां इस शराबी और बेवड़े चपरासी से तंग आ गए हैं जो गुरु जैसे महान हस्ती को भी गाली देने में बाज नहीं आते हैं इस चपरासी के बारे में आपको और कुछ बता दें यह चपरासी कभी सही तरीके से ड्यूटी भी नहीं करता है। प्रधानाध्यापक से रंगदारी करता है प्रधानाध्यापक को कहता है अगर आप मेरा उपस्थिति नहीं बनाएंगे तो आपको और आपके साथ दो 4 शिक्षकों को जान से मार कर डेहरी ऑन सोन नदी में गाड़ देंगे उक्त बातें भदवा विद्यालय के प्रभारी ने हमारे पत्रकार साथी को बताया। शिक्षकों ने जिला पदाधिकारी एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी से शराबी चपरासी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है शिक्षकों ने थाना को भी सूचित किया है लेकिन उस दबंग चपरासी पर आज तक किसी भी तरह का कार्रवाई नहीं हो सका। चपरासी अपने जातीय गुरूर को भी दिखाता। आगे हमारी रिपोर्ट इस विषय पर जारी रहेगी और हम देखते हैं जिला शिक्षा पदाधिकारी जातीय संकट के दांव पेच में फस कर उस पर कार्रवाई करते हैं या नहीं पर इस चपरासी के खिलाफ हमारी मुहिम जारी रहेगी।

slide

Total Page Visits: 194 - Today Page Visits: 1
Show More

Related Articles

Back to top button
Close